समाचार
|| सहयोग से सुरक्षा अभियान 15 अगस्त से || रोडमेप में शामिल सभी क्षेत्रों में होंगे कार्य, जो बनेंगे आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के साक्षी || मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में जाँच एजेंसियों में पंजीबद्ध प्रकरणों के विचारार्थ समिति गठित || ऑनलाइन आनंदक-परिचय कार्यक्रम आयोजित करने के संबंध में निर्देश || प्रधानमंत्री आवास योजना से अपने घर का सपना साकार- सांसद श्री नागर || जिले में अभी तक 422.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज || प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत अब 17 अगस्त तक फसल बीमा करा सकेंगे || प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत अब 17 अगस्त तक फसल बीमा करा सकेंगे || सही समय पर सायबर सेल को सूचना देने पर वापस मिल गई 15 हजार रूपये की राशि || 7 सितम्बर को होगी क्लेट की परीक्षा
अन्य ख़बरें
जल्दी शुरू होगा दमोहनाका से मदनमहल तक फ्लाई ओव्हर का निर्माण कार्य
कलेक्टर ने अधिकारियों की बैठक में की समीक्षा, भू-अर्जन एवं यूटिलिटी शिफ्टिंग की बाधाओं को शीघ्र दूर करने के दिये निर्देश
जबलपुर | 20-मार्च-2020
 
   

   
     दमोहनाका से मदनमहल तक करीब 6 किलोमीटर लम्बे फ्लाई ओव्हर का निर्माण कार्य जल्दी ही शुरू होगा। फ्लाई ओव्हर के निर्माण के टेंडर की प्रक्रिया पूरी हो गई और नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी को कार्यादेश जारी किया जा चुका है।
         यह जानकारी आज कलेक्टर भरत यादव की अध्यक्षता में फ्लाई ओव्हर के निर्माण की दिशा में अभी तक हुई प्रगति की समीक्षा के दौरान दी गई। कलेक्टर ने बैठक में फ्लाई ओव्हर के निर्माण के लिए भू-अर्जन की कार्यवाही और मुआवजा वितरण का काम शीघ्र पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं।  उन्होंने सीवर लाइन, पेयजल आपूर्ति और बिजली एवं टेलीफोन लाइन तथा ट्रेफिक सिग्नल की शिफ्टिंग के लिए संयुक्त सर्वे करने और इस काम को भी अतिशीघ्र पूरा करने पर जोर दिया।
         श्री यादव ने बैठक में फ्लाई ओव्हर के निर्माण से जुड़े सभी विभागों को अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का तत्परता से निर्वाह करने के निर्देश दिये हैं।  उन्होंने कहा कि फ्लाई ओव्हर का निर्माण जबलपुर के लिए बड़ा प्रोजेक्ट है। इस पर तेजी से क्रियान्वयन नागरिकों का विश्वास अर्जित करने में भी सहायक होगा।
         बैठक में बताया गया कि दमोहनाका से मदनमहल तक के फ्लाई ओव्हर का निर्माण पूरा करने के लिए तीन वर्ष की समय-सीमा तय की गई है।  फ्लाई ओव्हर के निर्माण का टेंडर 767 करोड़ रूपये में दिया गया है। जबकि मूल प्रोजेक्ट में इसकी लागत 758 करोड़ रूपये थी। कलेक्टर ने भू-अर्जन एवं यूटिलिटी शिफ्टिंग हेतु आवश्यक धनराशि के आबंटन के लिए राज्य शासन को प्रस्ताव भेजने के निर्देश भी अधिकारियों को बैठक में दिये।
         बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप जीआर, स्मार्ट सिटी के सीईओ आशीष पाठक, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री गोपाल गुपता एवं सभी संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
(146 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer