समाचार
|| मत्स्य प्रजनन काल 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट निषेध || बिजली बिल में रियायत के लिये सभी वर्गों ने किया स्वागत || प्रदेश के सिनेमा घर आगामी आदेश तक बंद रहेंगे || कोरोना को हराकर दो और योद्धा अपने घर लौटे || आवागमन के लिए नहीं होगी पास की जरूरत || बिजली के बिलों में दी गई रियायतें, सरकार ने लिया निर्णय || प्रदेश के सिनेमा घर आगामी आदेश तक बंद रहेंगे || पाँचवें चरण का लॉकडाउन, अनलॉक 1.0 का चरण होगा || प्रधानमंत्री श्री मोदी मैन ऑफ आइडियाज || कियोस्क आधारित सेवाऐं को निर्धारित शर्तो के आधार पर संचालन की अनुमति
अन्य ख़बरें
नगरीय क्षेत्रों में मुख्य सडक़ों के सभी तरह के बाजार एवं दुकानें पूरी तरह बंद रहेंगीं
नगरीय क्षेत्रों में किराना व्यवसायियों द्वारा प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक की जा सकेगी होम डिलेवरी, मोहल्ला एवं रहवासी बस्तियों की एकल दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक ही खुल सकेंगी, कलेक्टर ने किया लॉक-डाउन के दौरान व्यवस्थाओं में परिवर्तन, वाहनों की आवाजाही भी नियंत्रित रहेगी
बैतूल | 12-मई-2020
 
  
    कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने जिले में प्रभावशील लॉक-डाउन के दौरान व्यवस्थाओं में आवश्यक परिवर्तन किया है। मंगलवार को जारी आदेश के तहत नगरीय क्षेत्रों में सभी तरह के मुख्य सडक़ों के बाजार जैसे- बैतूल नगर के कोठीबाजार (लल्ली चौक, सीमेन्ट रोड, मैकेनिक चौक), गंज बाजार का सम्पूर्ण क्षेत्र, सदर बाजार का सम्पूर्ण क्षेत्र, सिविल लाइन का सम्पूर्ण क्षेत्र, बडोरा क्षेत्र का सम्पूर्ण बाजार (अनुमति प्राप्त दुकानें उनके समय के अनुसार, को छोडक़र), आमला रोड (कालापाठा बाजार) सम्पूर्ण क्षेत्र, अन्य मुख्य मार्ग जैसे आठनेर रोड, बैतूलबाजार रोड, इटारसी रोड स्थित दुकानें एवं बाजार आगामी आदेश तक पूरी तरह से बंद रहेंगे। सभी तरह की मोहल्ला दुकानें, रहवासी बस्तियों में एकल दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुली रह सकेंगी।
    कलेक्टर द्वारा जारी आदेशानुसार समस्त नगरीय क्षेत्रों से सब्जी/फलों का विक्रय मात्र डोर-टू-डोर होगा। यह विक्रय मात्र अनुमति प्राप्त वाहनों/ठेलों एवं दो पहिया वाहनों के किसानों द्वारा किया जाएगा। दो पहिया वाहनों के विक्रेता कृषकों को किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी।
   सभी प्रकार के पोल्ट्री उत्पाद, अंडा, मछली विक्रय की दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुली रहेंगी। यह दुकानें भी मोहल्ले एवं नगर के दूरस्थ क्षेत्रों में ही संचालित हो सकेंगी।
नगरीय क्षेत्रों में किराना के थोक व्यापारियों द्वारा माल की लोडिंग/अनलोडिंग का कार्य प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक किया जा सकेगा।
नगरीय क्षेत्रों में किराना व्यावसायियों द्वारा माल/सामग्री वितरण की डोर-टू-डोर डिलेवरी प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक की जा सकेगी।
नगरीय क्षेत्रों में ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों द्वारा माल की लोडिंग/अनलोडिंग प्रात: 7 बजे से 11 बजे तक की जा सकेगी।
नगरीय क्षेत्रों में दो पहिया वाहनों में आपातिक एवं मेडिकल इमरजेंसी के लिए ही निकला जा सकेगा एवं मात्र रोगी साथी को ले जाने के लिए दो सवारी की अनुमति होगी।
नगरीय क्षेत्रों में चार पहिया वाहनों पर भी आवागमन अत्यावश्यक कारणों से ही अनुमत होगा, जिसमें मेडिकल इमरजेंसी प्रमुख है।
दवाई की दुकानें एवं सभी प्रकार के नर्सिंग होम, अस्पताल, क्लीनिक पूर्ववत् खुले रहेंगे।
समस्त प्रकार के शासकीय कार्य जैसे बैंक, बीमा एवं समस्त वित्तीय संस्थाएं, दूरसंचार सेवायें, विद्युत प्रदाय के कार्य, नगरपालिका के कार्य एवं उसमें लगे समस्त प्रकार के कर्मी, अधिकारी/कर्मचारी वाहन पूर्वानुसार आवागमन कर सकेंगे। अत्यावश्यक सेवा होने से सायं 7 बजे से प्रात: 7 बजे का प्रतिबंध भी इससे संबंधित व्यक्तियों एवं वाहनों पर लागू नहीं होगा।
समस्त प्रकार की विशिष्ट अनुमतियां जो लोकहित में जारी की गई है, जैसे रेल्वे माल यार्ड से परिवहन आदि जारी रहेगी।
कलेक्टर ने स्पष्ट किया है कि किसी भी प्रकार के होटल, रेस्टोरेंट, खाने-पीने की दुकानें, सेलून, पार्लर, पान-गुटखा किसी भी तरह रोड के किनारे लगाई जाने वाली दुकानें, सभी हाट बाजार बंद रहेंगे।
सभी प्रकार की मशीनरी, घरेलू उपकरण रिपेयर करने वाले मैकेनिक, प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, कारपेंटर पूर्वानुसार अपना कार्य प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक कर सकेंगे। यह स्पष्ट किया जाता है कि इस प्रकार की दुकानें नहीं खुलेगी।
समस्त प्रकार की कृषि उपकरण यंत्र संबंधी दुकानें, खाद-बीज, कीटनाशक की दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुलेगी। यहां यह स्पष्ट किया जाता है कि मात्र कृषि के यंत्र व औजार की दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुलेगी।
कृषि कार्य के ट्रैक्टर, मोटर पंप की मात्र छोटी रिपेयर दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुल सकेंगी।
गेहूं उपार्जन एवं इसमें लगे समस्त प्रकार के कर्मी भी नगरीय क्षेत्रों में अपना पहचान पत्र दिखाते हुए आवागमन कर सकेंगे। अत्यावश्यक सेवा होने से सायं 7 बजे से प्रात: 7 बजे का प्रतिबंध भी इससे संबंधित व्यक्तियों एवं वाहनों पर लागू नहीं होगा।
ग्रामीण क्षेत्रों के लिए समस्त प्रकार की व्यवस्था पूर्ववत् रहेंगी अर्थात् उनमें किसी भी प्रकार के व्यवसाय अथवा समय का बंधन नहीं रहेगा, परन्तु वे ग्राम पंचायत एवं ग्रामीण क्षेत्र, जो नगरीय क्षेत्रों से जुड़े हैं एवं उपरोक्तानुसार पूर्व से ही चिन्हित किये जा चुके हैं, उनकी व्यवस्था नगरीय क्षेत्रों के अनुसार ही रहेगी।
कृषि उपार्जन आदि से संबंधित विशिष्ट प्रकार की आवश्यक सामग्री की दुकानें अनुविभागीय दण्डाधिकारी/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट की विशेष अनुमति से खोली जा सकेगी।
नगरीय क्षेत्रों में एमपी ऑनलाइन कियोस्क केन्द्र प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खोले जा सकेंगे।
ग्रामीण एवं नगरीय दोनों क्षेत्रों के सर्व संबंधितों को आपस में दो गज की दूरी बनाये रखने के नियमों का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा एवं पूर्व के आदेशों में जो राष्ट्रीय निर्देश पालन हेतु प्रसारित किये गये हैं वे भी समस्त पर बाध्यकारी होंगे।
    इन आदेशों की व्यवस्थाओं में संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारी/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमाण्डर स्थानीय आवश्यकतानुसार कोई भी परिवर्तन करने के लिए सक्षम होंगे।
    उल्लेखनीय है कि 12 मई 2020 को जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी कार्यालय के 09 मई 2020 को जारी आदेश के क्रम में लॉकडाउन एवं उसके क्रम में जो व्यवसायिक गतिविधियां प्रचलित हैं, उनकी विस्तार से समीक्षा की गई। जिले में पिछले अनेक दिनों से प्रवासी मजदूरों का बड़ी संख्या में आना जारी है। ये आने वाले मजदूर तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात एवं अन्य सभी राज्यों से हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं सिविल सर्जन द्वारा यह राय दी गई है कि प्रवासी मजदूरों के आने से आसन्न संक्रमण की स्थिति बन सकती है। वर्तमान में नगरीय क्षेत्रों में 05 मई 2020 से 12 मई 2020 तक सभी प्रकार की गतिविधियों को पर्याप्त छूट रहने से जन सामान्य के पास अत्यावश्यक सामग्री का वर्तमान में अभाव नहीं है, परन्तु संक्रमण को रोकना सर्वोच्च प्राथमिकता है। नगरीय क्षेत्र के बाजारों में इस छूट के कारण जो भीड़ एकत्रित हो रही है, उसके कारण दो गज की दूरी के सिद्धांत का पालन अत्यंत कठिन हो गया है। बड़ी संख्या में नागरिक दो व चार पहिया वाहनों से जिले में आवागमन कर रहे हैं एवं नगरीय क्षेत्रों में सामान्य दूरी (दो गज) एवं भीड़-भाड़ का नियंत्रण अत्यंत आवश्यक हो गया है। उपरोक्त परिस्थितियों के दृष्टिगत कलेक्टर द्वारा यह आदेश जारी किया गया है।
    कलेक्टर ने यह आदेश दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 (2) के तहत एकपक्षीय रूप से प्रभावशील किया है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 तथा एपिडेमिक एक्ट 1897 के तहत मप्र शासन द्वारा जारी किए गए विनियम 23 मार्च 2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187, 188, 269, 270, 271 के अंतर्गत दण्डनीय है एवं उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध इन धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश 13 मई 2020 से आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावशील रहेगा।
(20 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer