समाचार
|| कलेक्टर ने विराम को सफल बनाने में सहयोग के लिये नागरिकों का आभार माना || कोरोना से स्वस्थ होने पर छह व्यक्तियों की अस्पताल से छुट्टी || गुरु पूर्णिमा पर रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रक्तदान शिविर आयोजित || प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक लोगों का स्वास्थ्य सर्वे हुआ || लोक अदालत में सम्पत्ति कर के अधिभार पर मिलेगी 100 प्रतिशत की छूट || प्रदेश में फिल्म्स व सीरियल्स की शूटिंग के लिए एमपी टूरिज़्म ने जारी की एडवाइजरी || नर्मदा जल का पूरा उपयोग किया जायेगा || रोजगार सेतु पोर्टल से अब 16 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार || विधानसभा उप निर्वाचन की तैयारी के लिए विडियो कांफ्रेंस 07 जुलाई को || यात्री बसों के संचालन के संबंध में निर्देश
अन्य ख़बरें
डिजीलेप से शिक्षक प्रत्येक विद्यार्थी से जीवन्त जुड़कर करेंगे अध्यापन
-
शिवपुरी | 19-मई-2020
      शिक्षा संवर्धन के लिये स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा तैयार किए गये डिजीलेप (डिजीटल लर्निंग एनहेंसमेंट प्रोग्राम) का शुभारंभ 8 अप्रैल को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किया गया जो शिक्षकों के प्रयास और सहयोग से अपने उद्देश्य की प्राप्ति में सफल हो रहा है। कोविड-19 के संकटकाल में लर्निंग लॉस को रोकने के लिये राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा डिजीलेप बनाकर नवाचार किया गया। डिजीलेप के माध्यम से शिक्षक विद्यार्थियों से जीवंत संपर्क बनाकर अध्यापन कार्य कर रहे हैं। साथ ही शिक्षक व्हाट्सएप ग्रुप्स के माध्यम से अभिभावकों को उच्च गुणवत्ता वाली अध्ययन सामग्री भी उपलब्ध करा रहे हैं। शिक्षकों द्वारा फोन पर विद्यार्थियों का मार्गदर्शन भी किया जा रहा है। यहाँ तक कि शिक्षकों द्वारा व्हाट्स एप पर ही गृह कार्य पुस्तिका चैक करके वापिस भेजी जा रही है। शिक्षकों द्वारा इस तरह से किये जा रहे प्रयासों से न केवल विद्यार्थी बल्कि उनके माता-पिता भी डिजीलेप कार्यक्रम से निरंतर जुड़ रहे हैं।
    आयुक्त श्री लोकेश कुमार जाटव ने शिक्षकों को निदेश दिये हैं कि शालावार एवं कक्षावर बने व्हाट्स एप समूह पर प्रतिदिन कक्षा अनुरूप शिक्षण सामग्री 12 बजे के पूर्व विद्यार्थी या अभिभावक के मोबाइल पर देना सुनिश्चित करें। शिक्षक प्रतिदिन 5-6 छात्रों से दूरभाष पर कार्यक्रम के संबंध में विस्तारपूर्वक परिचर्चा और 10 से 12 दिन में शाला के सभी विद्यार्थियों से संपर्क करें।
    शिक्षक अभिभावकों से परिचर्चा कर जानकारी लेंगे कि विद्यार्थी डिजीलेप सामग्री को अच्छी तरह से देख और समझ रहे हैं, और यदि नही तो क्यों ? डिजीलेप से अध्ययन सामग्री प्राप्त करने के लिये अपने बच्चों को स्मार्ट फोन उपलब्ध कराने के लिये शिक्षक पालकों को प्रेरित करें। शिक्षक विद्यार्थियों को गृह-कार्य की तस्वीरें भेजने के लिये कहें। शिक्षक गृह-कार्य की समीक्षा कर टिप्पणी देकर विद्यार्थी को व्हाट्स एप पर वापिस भेजें।
    हर दिन के अंत में प्रत्येक शिक्षक संकुल व्हाट्स एप समूहों के माध्यम से भेजे गए गूगल फार्म को भरेंगे। फार्म के माध्यम से प्रतिदिन संपर्क किए गए विद्यार्थियों का नाम और फोन नं. की जानकारी देंगे। शिक्षकगण - https://forms-gle/vmHLHdRoYMn3wkVi6 लिंक से भी ले सकते हैं।
    शिक्षकों को समय-समय पर क्विज, असाइंमेंट, अतिरिक्त शिक्षण और प्रत्येक रविवार को फ्लिप बुक उपलब्ध कराई जाएंगी जिससे शिक्षकों को अपने विद्यार्थियों से फोन और व्हाट्स एप के माध्यम से जुड़ने में मदद मिले। श्री जाटव ने जानकारी दी कि डिजीलेप, टीवी और रेडियो स्कूल कार्यक्रमों में उत्कृष्ट योगदान के लिये शिक्षकों को राज्य, जिला एवं ब्लॉक स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।
 
(47 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer