समाचार
|| ग्राम देउर के दो वार्ड तथा रीवा शहर के वार्ड क्रमांक-12 को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया गया || ऑनलाइन होगी आगँनवाड़ी केन्द्रों की मॉनीटरिंग || नगरीय निकायों को सम्पत्ति कर का निर्धारण करने के निर्देश || सेमरिया तहसील के चचाई ग्राम के वार्ड क्रमांक-4 को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया गया || माध्यमिक शिक्षक चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन कार्य स्थगित || आर्थिक सहायता स्वीकृत || पूर्व मंत्री ने जिला चिकित्सालय को सौंपे 50 नये बेड || पानी की मोटर चोरी करने वाले आरोपीगण को भेजा जेल || कंटेन्मेंट एरिया मुक्त || सेव द चिल्ड्रन टीम ने जिले के 25 गाँवों में किया
अन्य ख़बरें
जिले मे लौटे प्रवासी श्रमिको को शत प्रतिशत रोजगार उपलब्ध करायेः- संभागीय कमिश्नर डॉ. अशोक भार्गव
कंन्टेनमेंट ऐरिया मे निवासरत गर्भवती धात्री महिलओ को उनके घरो मे उपलंब्ध कराये पोषण आहार
सिंगरौली | 28-मई-2020
 
    रीवा संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने कलेक्ट्रेट सभागार मे आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दिये कि जिले में आये सभी प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रभावी कार्ययोजना तैयार कर उन्हे शत प्रतिशत रोजगार उपलब्ध कराने के साथ यह सुनिश्चित करे कि जिले का कोई भी श्रमिक रोजगार के लिए पलायन न करे। सभी विभाग सामूहिक रूप से रोजगार मूलक कार्यों का क्रियान्वयन कर रोजगार उपलब्ध कराने के प्रयास करें। उन्होने निर्देश दिया कि जिले में कार्यरत विभिन्न औद्योगिक कंम्पनियो मे भी श्रमिको को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जाये। यदि रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता है तो श्रमिकों को कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण भी दिलाया जाय।
    कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को विभिन्न विभाग संयुक्त रूप से कार्ययोजना तैयार कर रोजगार उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि पशु चिकित्सा विभाग श्रमिकों को डेयरी स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करें और उनके स्वसहायता समूह बनाकर उनको  मुर्गी पालन , संब्जी उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित करे। उन्होने कहा कि  इस आशय का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार भी कराया जाये कि चिकन  से कोरोना वायर होने की संभावन नही होती है। प्रवासी मजदूरों को उनकी योग्यता के अनुरूप रोजगार मिले इस दिशा में पशु चिकित्सा विभाग कार्य करे। उन्होंने कहा कि जैविक खेती को बड़ावा देने के लिए  गौशालाओं में अनिवार्य रूप से नाडेप कम्पोस्ट, वर्मी कम्पोस्ट, बायोमास एवं गोबर गैस का प्लांट स्थापित करने के लिए विधिवत कार्यवाही की जाये।
    कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिये कि मध्यप्रदेश भवन संनिर्माण कर्मकार योजना तथा संबल योजना के अन्तर्गत श्रमिकों को लाभांवित किया जाय। जिला पंचायत प्रवासी श्रमिकों को जल ग्रहण मिशन के अन्तर्गत खेत-तालाब, मेड़ वंधान, नाडेप, स्टाप डैम, चेक डैम, गलीप्लग और मनरेगा योजना तथा मुख्यमंत्री ग्राम सरोवर योजना के तहत कार्य प्रारंभ कर रोजगार उपलब्ध कराये। जिन श्रमिकों के पास जॉब कार्ड नही है उनके जॉब कार्ड बनाना सुनिश्चित करें। उन्होने निर्देश दिया कि वर्षात के पहले  जिले मे खनन कराये जा रहे तालाबो के कार्यो को पूर्ण किया जाये। निर्माण कार्यो मे मजदूरो की संख्या बड़ाई जाये। उन्होने निर्देश दिया कि निर्माण कार्यो की गुणवंत्ता मे किसी प्रकार खामी न रहे निर्माण कार्यो को निर्धारित समय सीमा मे पूर्ण कराये।
        कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिया कि जिले कार्यरत औद्योगिक कंम्पनियो के प्रतिनिधियो के साथ बैठक आयोजित कर उन्हे किस प्रकार के श्रमिको की आवश्यकता है उसके अनुसार जिले मे आये प्रवासी श्रमिको को कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण देकर उन्हे रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये। उन्होने निर्देश दिया कि वर्षात का मौशम आने वाला है वन विभाग के साथ अन्य विभागो के द्वारा पर्यावरण मे संतुलन बनाने के लिए अधिक से अधिक वृक्षा रोपण  के कार्य कराया जाये। जिसके लिए अभी से पौधरोपण के लिए गड्डो को तैयार कराये तथा इस कार्य में अधिक से अधिक अधिक से श्रमिको को रोजगार उपलब्ध कराया जाये। उन्होंने कहा कि जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, तथा प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत श्रमिकों को स्वरोजगार योजना से जोड़ा जाय। उन्हें सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम योजना के अन्तर्गत भी लाभांवित किया जाय। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र पिछले वर्ष के लक्ष्यों को मानकर स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए तत्पर होकर अभी से इसका क्रियान्वयन प्रारंभ करें।
  कंन्टेनमेंट ऐरिया मे निवासरत गर्भवती धात्री महिलाओ का कराये सर्वेक्षणः- कमिश्नर डॉ. अशोक भार्गव ने निर्देश दिये कि जिले मे बनाये गये कंन्टेनमेंट ऐरिया मे निवासरत गर्भवती धात्री महिलाओ का सर्वेक्षण कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाये। ऐसी महिलओ को उनके घरो मे ही आयरन की टेबलेट तथा पोषण आहार उपलब्ध कराये। साथ ही उस ऐरिया के जो भी बुर्जुग एव अन्य लोग सर्दी जुखाम तथा बुखार से पिड़ित हो उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उन्हे भी औषधी मुहैया कराई जाये। तथा मुहिम चलाकर बिना मास्क के बाहर के घूमने वालो के विरूद्ध चलानी कार्यवाही करे। उन्होने कहा कि कोरोना को हराने के लिए सामाजिक दूरी के नियमो का पालन करना अनिवार्य है साथ ही इस आशय की समझाईस दी जाये की 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे तथा बुर्जुग घर मे रहे। घर के बाहर न निकले आने वाले सभी प्रवासी मजदूरो का विधिवत स्वास्थ्य परीक्षण कराये।  कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि रेड जोन से आने वाले श्रमिको के व्यवस्था मे लगे अधिकारी कर्मचारी उनसे दो गज की दूरी बनाये रखे जब आप स्वास्थ्य रहेगे तभी दूसरो को स्वस्थ्य रखने मे मदद कर सकेगे।
सभी उपखण्ड अधिकारी अपने क्षेत्रो के पीडीएस दुकानो का करे निरीक्षणः- कमिश्नर डॉ. भार्गव ने बैठक मे उपस्थित सभी उपखण्ड अधिकारियो को निर्देश दिये कि अपने अपने क्षेत्रो मे संचालित पीडीएस के दुकानो की नियमित रूप से जॉच करे दुकाने समय पर खुले तथा समय पर बंद हो जिन प्रवासी मजदूरो के पास या ऐसे व्यक्ति जो गरीब है उनके पास पात्रता पर्ची नही तो भी उन्हे राशन उपलब्ध कराये।
    बैठक के दौरान कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी के द्वारा जिले मे कोरोना महामारी को रोकने के लिए की गई व्यवस्थाओ के साथ साथ जिले मे पाये गये संक्रमित व्यक्तियो की जानकारी सें अवगत कराया गया। इसके साथ उन्होने बताया कि जिले मे निरीक्षण एवं समन्वय के लिए तीन फार्मेट मे जानकारी गूगल फार्म के माध्यम से प्राप्त की जाती है।  उन्होने कहा कि जिले के मूल निवासी श्रमिक जो दूसरे प्रदेशो से आये है उनका सर्वेक्षण कराया जाकर सह निर्माण कर्मकार एवं असंगठित श्रमिको का पंजीयन कराया जा रहा है। साथ जिनके पास जॉब कार्ड नही उनका नवीन जॉब कार्ड बनाने के निर्देश दिये गये है। कलेक्टर ने बताया कि जिले मे मनरेगा कार्य मे वर्तमान मे 31 हजार 519 मजदूर कार्यरत है। तथा अधिक से अधिक मजदूरो को कार्य उपलब्ध कराने की कार्यवाही जारी है। कलेक्टर ने बताया कि जिले में डीएमएफ अंतर्गत 145 भवनो का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसमें 23 भवनो का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष भवनो का निर्माण कार्य एक माह मे पूर्ण कर लिया जायेगा। जिस पर संभागीय आयुक्त के द्वारा प्रशंन्नता व्यक्त किया  गया। अंत में संभागीय कमिश्नर डॉ. भार्गव के द्वारा सभी अधिकारियो को निर्देश दिया गया कि कोई भी श्रमिक रोजगार से वंचित न रहे।
  बैठक के दौरान वन मण्डल अधिकारी विजय सिंह, जिला पंचायत के मुख्या कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, अपर कलेक्टर बी.के पाण्डेंय, निगमायुक्त शिवेन्द्र सिह, संयुक्त कलेक्टर व्ही.पी. पाण्डेंय, डिप्टी कलेक्टर एस.पी मिश्रा, एसडीएम ऋषि पवार, विकास सिंह, नीलेश शर्मा, रवि मालवीय, डिप्टी कलेक्टर संम्पदा सर्राफ, तहसीलदार जीतेन्द्र बर्मा सहित जनपद पंचायतो के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिलाधिकारी उपस्थित रहे।  बैठक के दौरान वन मण्डल अधिकारी विजय सिंह, जिला पंचायत के मुख्या कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, अपर कलेक्टर बी.के पाण्डेंय, निगमायुक्त शिवेन्द्र सिह, संयुक्त कलेक्टर व्ही.पी. पाण्डेंय, डिप्टी कलेक्टर एस.पी मिश्रा, एसडीएम ऋषि पवार, विकास सिंह, नीलेश शर्मा, रवि मालवीय, डिप्टी कलेक्टर संम्पदा सर्राफ, तहसीलदार जीतेन्द्र बर्मा सहित जनपद पंचायतो के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिलाधिकारी उपस्थित रहे।   
(38 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer