समाचार
|| कलेक्टर ने खामरा पठार के ग्रामीणों से चर्चा की || आज 4 पॉजिटिव मरीज मिले || आजीविका मिशन अंतर्गत महिला स्व-सहायता सिलाई केन्द्र का कलेक्टर ने किया निरीक्षण || कोरोना युद्धाओं का सम्मान एवं प्रशस्ति पत्र वितरण || बीएमसी से 21 मरीज स्वस्थ होकर खुशी-खुशी घर लौटे || आधार कार्ड सीडिंग में केन्द्र संचालक प्राथमिकता के साथ कार्य करें - अपर कलेक्टर श्री जैन || कलेक्टर श्री सुमन ने कोरोनो वायरस टेस्टिंग लैब को शीघ्र प्रारंभ करने की तैयारियों के संबंध में ली बैठक || डीटीपीसी की बैठक 23 जुलाई को || सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं एनआरसी का कलेक्टर ने किया निरीक्षण || कलेक्टर को 10 हजार मास्क सौंपे
अन्य ख़बरें
खुद की छत का सपना संजोए बैठे परिवारों को कुछ समय बाद मिलेंगे आसियानें (कहानी सच्ची है)
अतरसुमा न्यू टाउनशिप में 240 आवास 30 जून तक पूर्ण होंगे
मुरैना | 18-जून-2020
      खुद की छत का सपना संजोए बैठे गरीब परिवारों को कुछ समय बाद मिल जायेंगे नवीन आशियाने। यह बात हो रही अतरसुमा न्यू टाउनशिप में निर्मित हो रहे 1 हजार 116 आवासों की। इन आवासों में से 240 आवास चालू माह जून के अन्त तक पूर्ण कर लिये जायेंगे। 240 आवास पूर्ण होते ही 240 गरीब परिवारों को सर ढकने के लिये नवीन आवास उपलब्ध हो जायेंगे। अतरसुमा टाउनशिप का निर्माण नगर निगम मुरैना द्वारा किया जा रहा है।  
    कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने गुरूवार को इस अतरसुमा टाउनशिप का मौके पर जाकर मुआयना किया। उन्होंने कहा कि जिन आवासों का निर्माण कार्य 90 प्रतिशत तक हो गया है। उसे 30 जून तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। निर्माण एजेन्सी भी इस ओर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि 122 करोड़ रूपये की लागत से अतरसुमा न्यू टाउनशिप में 46.5 ब्लॉकों में 1 हजार 116 आवास बनाये जाने है। जिसमें 5 ब्लॉकों 240 आवास 30 जून तक पूर्ण हो जायें। जिससे लोग खुद की छत का सपना संजोए बैठे परिवारों को अपने आसियानें वर्षा के पूर्व मिल सकें। 240 आवासों में नल, पानी, बिजली, सीवर रोड़ की सुविधा मुहैया कराना निश्चित हो जाये।  
    कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ए.एच.पी. (एपोटेबल हाउससिंग प्रोजेक्ट) द्वारा अतरसुमा पर आवास बनाये जा रहे है। इन आवासों में मात्र 240 आवासों का कार्य 90 से 95 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। उन आवासो में टोंटी, लाइट, सड़क, रंगाई-पुताई 7 दिवस के अन्दर निर्माण एजेन्सी कराना सुनिश्चित करेंगे। इस कार्य में लापरवाही की तो जून माह का वेतन नगर निगम के इन्जीनियरों का आहरित नहीं किया जायेगा। प्रतिदिन नवीन प्रोग्रेस के फोटोग्राफ्स आयुक्त नगर निगम के माध्यम से कलेक्टर को भेंजे जायेंगे।  
    कलेक्टर ने बताया कि 1 हजार 116 आवासों में से 120 एम.आई.जी. जो 19 लाख रूपये की लागत से, 240 एल.आई.जी. 16 लाख रूपये की लागत से और ई.डब्ल्यू.एस. आवास 6 लाख 20 हजार रूपये की लागत से प्राप्त होंगे, किन्तु ई.डब्ल्यू.एस. आवास बीपीएल परिवारों को 2 लाख रूपये में प्राप्त होंगे। इसके लिये हितग्राही से 10 प्रतिशत के मान से 30 हजार रूपये मार्जिनमनी के तौर पर जमा करा लिये गये है। शेष 1 लाख 70 हजार रूपये माइक्रोस हाउसिंग फायनेंस बैंक (एम.एच.बी.) द्वारा फायनेंस किये जायेंगे। जो किस्तों के रूप में आवास मिलने के बाद जमा करने होंगे।
    कलेक्टर ने बताया कि आवासों में शेष छोटे-मोटे कार्य शेष बचे है, उन्हें दुरूस्त कराकर सुरक्षागार्ड लगाये। भले ही कार्य रात-दिन में पूरा हो। इसके लिये कोरोना वायरस का बहाना नहीं चलेगा। प्रतिदिन कम से कम 200 मजदूर लगाये। जिससे काम समय पर पूर्ण हो सके। किन्तु 30 जून तक 240 आवासों को पूर्ण करने के लिये अन्तिम गाइडलाइन होगी। उन्होंने कहा कि सीसी रोड़ का कार्य भी प्रारंभ करें, जिससे लोंगो को आवागमन में असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि जिन लोंगो को लॉटरी सिस्टम द्वारा आवास प्राप्त हुये है। उसकी सूची मोबाइल सहित उपलब्ध कराई जावे। जिससे दूरभाष पर कॉल कर उन्हें आवास की जानकारी बताई जा सके।

डी.डी.शाक्यवार  
 
(21 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer