समाचार
|| संसाधनों का समान वितरण कर जरूरतमंदों को सहारा देती है संबल योजना मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हितग्राहियों को दी सहायता राशि, संवाद भी किया "आपका संबल-आपकी सरकार" || छोटे किसानों के लिए वरदान साबित होगी मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना || शासकीय विभागों में रिक्त पद भरने के लिए तत्काल प्रक्रिया प्रारंभ करें- मुख्यमंत्री श्री चौहान || स्थाई पट्टे से बैंक ऋण और भू-खंडों का अंतरण होगा संभव || आई.टी.आई. में पुन: रजिस्ट्रेशन के लिए 30 सितम्बर तक तिथि बढ़ी || आई.टी.आई. में पुन: रजिस्ट्रेशन के लिए 30 सितम्बर तक तिथि बढ़ी || स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर स्वनिधि से मिली ऋण राशि से प्रसन्न है बिरमावलसिंह (खुशियों की दास्तां) || जिले में अब तक करीब 42 इंच वर्षा || 3 हजार 377 से अधिक शिकायतों का मौके पर निराकरण || संसाधनों का समान वितरण कर जरूरतमंदों को सहारा देती है संबल योजना
अन्य ख़बरें
कलेक्टर के प्रयास से शासकीय मंदिर संबंधी अपील निरस्त
श्री अवध बिहारी जू मंदिर संबंधी प्रकरण में अपर जिला न्यायाधीश ने दिया फैसला
पन्ना | 28-जुलाई-2020
    श्री अवध बिहारी जू मंदिर कटरा बाजार के संबंध में केशरी प्रसाद गोस्वामी बगैरह द्वारा भगवान की सम्पत्ति को स्वयं की सम्पत्ति बताकर कब्जा प्राप्त के लिए माननीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पन्ना श्री अनुराग द्विवेदी के न्यायालय में अपील की गयी थी। मंदिर शासन संधारित होने के कारण इसका प्रबंधन कलेक्टर के पास था।
    अपील निरस्त होने के उपरांत केशरी प्रसाद गोस्वामी द्वारा शासन के विरूद्ध जिला न्यायालय में अपील प्रस्तुत की गयी। जिसमें 20 मार्च 2014 व्यवहार न्यायालय द्वारा निरस्त अपील संबंधी निर्णय को इस आशय पर चुनौती दी गयी कि उनका लम्बे समय से इस सम्पत्ति पर कब्जा है एवं कथाकथित दानपत्र के आधार पर स्वयं को मालिक घोषित करने की अपील का निवेदन किया गया। यह प्रकरण माननीय न्यायालय में लंबित रहा। प्रकरण में कलेक्टर के प्रयासों से अपर जिला न्यायाधीश री अनुराग द्विवेदी द्वारा प्रतिदिन सुनवाई करते हुए उपरोक्त तथ्यों को सिरे से नकारते हुए अपील को निरस्त कर दिया। ज्ञातव्य हो कि उपरोक्त मंदिर शहर के मध्य स्थित है। जिसकी कीमत आज लगभग करोडो रूपये में होगी। इस प्रकरण में माननीय न्यायालय के समक्ष शासकीय अधिवक्ता श्री किशोर श्रीवास्तव द्वारा प्रखरता पूर्वक पैरवी की तथा न्यायालय को छोटे से लेकर बडे बिन्दुओं तक अवगत कराया। इस पर माननीय अपर सत्र न्यायाधीश द्वारा अपने निर्णय में इस बात का उल्लेख किया गया कि उक्त भूमि किसी भी प्रकार से केशरी प्रसाद गोस्वामी बगैरह की नही है और उन्हें किसी प्रकार का स्वत्व किसी भी दस्तावेज से प्राप्त नही होता।
    ऐसे निर्णयों से जहॉ न्यायालय में शासन प्रषासन एवं शासकीय अधिवक्ता द्वारा एक प्रभावी ढंग से अपना पक्ष रखा, जिससे शासन की बहुमूल्य धरोहर सुरक्षित हुई और प्रकरण में वर्तमान कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा के संज्ञान में शासकीय अधिवक्ता द्वारा जब समीक्षा के दौरान प्रकरण की जानकारी लाई गई तो उनके द्वारा लगातार इस प्रकरण में शासकीय अभिभाषक एवं शासन के पक्ष के प्रभारी अधिकारी को लगातार शासन हित में अपना पक्ष उचित रीति से एवं प्रभावी ढंग से रखने हेतु प्रेरित किया गया, जिसके परिणाम स्वरूप शासन की बहुमूल्य सम्पत्ति बची रही। उक्त मन्दिर में किवदंतियां हैं कि मन्दिर करीब 100 साल से भी अधिक पुराना होगा और उसकी मूर्तियां प्रहरकालों में अपना स्वरूप बदलती रहती हैं और मूर्तियां पन्ना जिले की एक धरोहर भी हैं।
    शासन की ओर से मान्नीय व्यवहार न्यायालय एवं अपील न्यायालय अपर जिला न्यायालय में लगातार प्रकरण को सूक्ष्मता से अध्ययन करते हुए पैरवी श्री किषोर श्रीवास्तव शासकीय अधिवक्ता के द्वारा की गई।
(57 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2020अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer