समाचार
|| संयुक्त टीम द्वारा उपार्जन केन्द्र खुलरी का निरीक्षण || वीवीपैट मशीनों की मोबाइल एप से स्कैनिंग का कार्य 5 दिसम्बर से शुरू होगा || तेंदूखेड़ा में फेस मास्क नहीं लगाने वाले 21 लोगों पर लगा 2200 रूपये से अधिक का जुर्माना || विश्व विकलांग दिवस पर कलेक्टर ने दिव्यांगों को व्हील चेयर, वैसाखी व छड़ी प्रदान की || कलेक्टर द्वारा योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || केंद्रीय मंत्री श्री पटेल आज ग्वालियर जायेंगे || असुरक्षित पनीर का विक्रय करने पर नानकिंग रेस्टोरेंट सील || मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 दिसंबर को नगरीय निकायों को स्वच्छता सेवा सम्मान- 2020 से करेंगे सम्मानित || मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य 50 वर्षों से भूमि पर काबिज किसानों को पट्टे दिये जाएंगे || रोको-टोको अभियान : 613 व्यक्तियों से वसूला गया 1 लाख 15 हजार रुपये का जुर्माना
अन्य ख़बरें
प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन के अनुसार आगामी त्यौहारों-पर्वो को संक्रमण के बचाव के सभी उपाय अपनाते हुए सामाजिक समरसता के साथ मनाये जाने का लिया शांति समिति ने निर्णय
किसी भी प्रकार के चल समारोह, गरवा आदि की अनुमति नहीं, मूर्ति विसजर्न के समय अधिकतम 10 लोगों की अनुमति, विसर्जन चल समारोह के रूप में नहीं होगा।
दमोह | 15-अक्तूबर-2020
 
             कलेक्टर श्री तरूण राठी की अध्यक्षता में आयोजित शांति समिति की बैठक में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए तथा प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाईड लाइन के अनुसार आगामी त्यौहारों को संक्रमण के बचाव के सभी उपाय अपनाने होंगे, कहीं भीड़ ना हों, फेसकवर, हाथ धुलाई और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तथा कोरोना से बचाव एवं सामाजिक समरसता के साथ आगामी सभी त्यौहार मनाये जाने का निर्णय लिया गया। यह बैठक मानस भवन में सम्पन्न हुई।
   इस अवसर पर कलेक्टर श्री तरूण राठी ने कहा केसों की संख्या में पिछले 10 दिनों से कमी आ रही है लेकिन संकट अभी टला नहीं है, हम सब ने कोरेनटीन के नियमों का पालन किया और कम संख्या में घर से बाहर निकले लेकिन त्योहारों की संख्या में एक प्रवृत्ति रहेगी कि हम लोगों के मिलने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी, सामूहिक गतिविधियों को सीमित शर्तों पर अनुमति प्रदान की जा रही हैं, त्योहारों का समय निकलेगा तो शीत ऋतु भी चालू हो जाएगी, शीत ऋतु में भी विशेषज्ञों का कहना है कि केसेस बढ़ सकते हैं। इस पृष्ठभूमि को ध्यान में रखते हुए शासन ने जो नई गाईड लाईन जारी की है, हमको त्यौहारों को सेलिब्रेट करना है।
   उन्होंने कहा शासन ने दुर्गा उत्सव कार्यक्रम में पंडाल का साइज 30 बाई 45 अधिकतम अनुमत्य रहेगा, लेकिन मूर्ति के साइज को रिलैक्सेशन दे दिया गया है। साथ ही कंटेनमेंट जोन में कोई भी गतिविधियां किसी भी प्रकार का कार्यक्रम नहीं होगा, यद्यपि शहर के कंटेनमेंट छोटे हैं, लेकिन गांव, गली या फिर किसी जगह पर कंटेनमेंट है तो वहां पर किसी भी प्रकार का कार्यक्रम नहीं होगा। हमको यह सुनिश्चित करना है कि भीड इकट्ठे ना हो, सोशल डिस्टेंस एवं मास्क का पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए, इसके साथ साथ हाथ धुलाई को भी प्रोत्साहित करना चाहिए।
   कलेक्टर श्री तरूण राठी ने कहा किसी प्रकार की चल समारोह, गरबा, डांडिया आदि की अनुमति नहीं है, विसर्जन के समय अधिकतम 10 लोग अनुमति होगी। विसर्जन में किसी भी प्रकार के चल समारोह के रूप में नहीं होगा, प्रथक-प्रथक 10 लोगों के द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा चल समारोह में श्री राम दल प्रतीकात्मक निकालने की छूट प्रदान की गई है, राजनीतिक सभा-समारोह करने के लिए अभी 100 लोगों की अनुमति है, लेकिन आगे जो भी परिवर्तन होगा समय-समय पर आपको सूचना दी जाएगी। हमें कोरोना के संकट को देखते हुए अपने त्योहारों को मनाना है, साथ ही हमें कोरोना से बचते हुए अपने जिले, परिजनों को संक्रमित होने से बचाना है।
            पुलिस अधीक्षक हेमेन्त चौहान ने कहा पूर्व में लॉकडाउन के समय त्योहार हुए हैं, गाइडलाइन के अनुसार मनाए गए हैं, समिति के सदस्यों ने, गणमान्य नागरिकों ने, सभी धर्म गुरुओं ने पहल करके शासन की गाइड लाइन के दिशा निर्देश, कलेक्टर सर के प्रतिबंधात्मक आदेश थे ,उनका पूर्णतया पालन कराया है, जिसके कारण से हमारे सभी त्योहार अच्छे और पूर्ण व्यवस्थित तरीके से संपन्न हुए हैं, इसी प्रकार आगामी त्योहार आने वाले हैं, मेरा पूर्ण विश्वास है कि आमजन का पूर्णता सहयोग रहेगा। उन्होंने कहा दुर्गा उत्सव कार्यक्रम में जहां-जहां झांकियां स्थापित की जाती है, उसकी पूरी जानकारी संकलित की है, सभी समितियों की सूची भी प्राप्त की है, उनको पाबंद भी किया है। इस संबंध में थाना स्तर बैठकें आयोजित कर ली गई हैं और आज जिला स्तर पर भी आयोजित हो रही है, विसर्जन के स्थान उनका भी निरीक्षण किया गया है, आवश्यक व्यवस्था में पुलिस-प्रशासन शामिल रहते हैं, उन सभी के द्वारा व्यवस्थाओं को देखा गया है, उसमें जो भी पूर्ति आदि काम कराए जाने हैं, वह लगातार किए जाएंगे, लगातार हम सजग है, दिशा निर्देश व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार कर दिया है।
   उन्होंने कहा धर्मगुरुओं से भी अपेक्षा है वह भी लगातार अपील जारी करें, गणमान्य नागरिक, क्षेत्र के प्रभावशाली जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को शासन के दिशा निर्देशों से अवगत कराएं, समन्वय बनाएं, व्यवस्थाओं को जैसे आप लोगों का पुर्व में सहयोग मिलता रहा है उसी प्रकार आगामी त्योहारों में भी आपका सहयोग मिलता रहे, ताकि सभी त्योहार व्यवस्थित तरीके से मनाया जा सके, शासन के दिशा निर्देश प्राप्त हुए हैं उसके अनुरूप हम त्योहारों को संपन्न करा सकें। उन्होंने कहा सोशल मीडिया पर कोई भी आपत्तिजनक पोस्ट डलती है, तो उस पर कार्यवाही की जाएगी।
   इस अवसर पर श्री अनुनय श्रीवास्तव ने कहा कोविड-19 को देखते हुए मानवता के हित में प्रशासनिक गाइडलाइनो का पालन करते हुए श्री राम जी सेवा समिति रावण दहन का आभासी कार्यक्रम 25 तारीख को शाम को 5:00 बजे से किया जायेगा जिसमें गोधूली बेला में केवल रावण दहन बगैर किसी आतिशबाजी के साथ संपन्न किया जाएगा। साथ ही राम जी समिति के द्वारा निर्णय लिया गया कि रामजी सेवा समिति का एक फेसबुक पेज, यूट्यूब चैनल और फेसबुक आईडी बनाया जायेगा, जिसके माध्यम से प्री रिकॉर्डेड एक आयोजन किया जाएगा, जो कार्यक्रम मंच से किया जाता था, राम जी का पूजन अर्चन, गणमान्य नागरिकों के छोटे-छोटे संदेश मंच के माध्यम से दिखाते थे, यह सभी संदेश इस कार्यक्रम में प्रसारित किए जाएंगे, साथ ही राम-रावण का आभासी युद्ध दिखा कर पुतले का दहन किया जाएगा, यह कार्यक्रम 25 अक्टूबर को 5:00 बजे से ऑनलाइन यूट्यूब चैनल के माध्यम से प्रसारित किया जायेगा, जिससे सभी लोग अधिक से अधिक कार्यक्रम का घर बैठे आनंद उठा पाएंगे, इसके अलावा दूसरा कार्यक्रम 1 फुट का रावण का पुतला रहेगा, जिसमे समिति के सदस्य मिलकर पूतला दहन करेगें। इस अवसर पर श्री अजय टडन ने राम जुलूस के सबंध मे अपने विचार विस्तार से रखे।
   एसडीएम श्री गगन बिसेन ने कहा कोरोना के कारण सारी बंदिशसे है, किसी भी प्रकार से किसी भी धर्म या व्यक्ति मनाही नहीं है, लेकिन कोरोना के कारण शासन की गाइड लाइन के कारण हम लोग त्यौहारों को मनाये, हम सब को यह बात समझनी होगी, शासन की गाईडलाइन का अक्षरस: पालन करना है, तभी हम कोरोना से जंग जीत पाएंगे।
   इस अवसर पर उस्ताद श्री अनवर ने अपने विचार को विस्तार से रखते हुये सभी को आने वाले त्यौहारो के लिए मुबारकबाद दी। शांति समिति के अन्य सम्मानीय सदस्यों ने अपने अमूल्य सुझाव रखें। इस अवसर पर शांति समिति के सम्‍मानीय सदस्यगण और प्रशासनिक-पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।
(50 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer