समाचार
|| लोक निर्माण विभाग ने भरवाए छावनी की सडक के गहरे गड्ढे || देवास जिले में रविवार को ग्रामीण क्षेत्रो में 8 हजार 533 चालान मास्क नही पहनने पर बनाये गये तथा 97 हजार 169 रुपये की वसूली की गईं || शाजापुर जिले में आज 09 कोरोना पाजीटिव मरीज मिले || 8 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई || अतिक्रमण मुक्त शहर ही भोपाल की पहचान बने - संभागायुक्त श्री कियावत || औषधि विक्रेता खांसी-जुकाम के मरीजों की जानकारी सार्थक लाइट एप पर करेंगे अपलोड || आयुष्मान भारत योजना कार्ड पर 5 लाख रूपये की स्वास्थ्य सुविधाओ का मिलेगा लाभ || सहकारिता से साकार होगा आत्मनिर्भर "विशेष लेख" || शासकीय सेवकों के लिये विशेष नगद पैकेज योजना घोषित || ’जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु 15 दिसम्बर तक आवेदन आमंत्रित’
अन्य ख़बरें
नरवाई जलाना प्रतिबंधित, किसानों को किया जाये जागरूक कलेक्टर ने दिये निर्देश
-
निवाड़ी | 20-अक्तूबर-2020
 
     कलेक्टर श्री आशीष भार्गव ने निर्देशित किया है कि जिले के किसान फसल कटाई के पश्चात नरवाई नहीं जलायें। उन्होंने कहा कि जिले में सरकार द्वारा जारी निर्देशानुसार नरवाई जलाना पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिले के किसान फसल कटाई के पश्चात नरवाई नहीं जलायें, इसके लिये कृषि विभाग के अधिकारी, कृषि मित्र, कृषि बंधु का सहयोग लें और कृषि पाठशाला में भी किसानों को अगवत करायें। उन्होंने कहा कृषि विभाग सक्रियता से काम करे, किसानों को बतायें की नरवाई जलाने पर दंड का प्रावधान है।
     कलेक्टर श्री भार्गव ने किसानों को इस संबंध में समझाईश देते हुये कहा कि खेतों में उपज कटने के बाद बचे हुये अवशेष (नरवाई) जलाना खेती के लिये आत्मघाती कदम है। उन्होंने बताया कि नरवाई में आग लगाने पर पुलिस केस दर्ज करेगी। दोषी पर आर्थिक दंड एवं सजा का प्रावधान है। नरवाई में आग लगाने से भूमि में उपलब्ध जैव विविधता समाप्त हो जाती है। भूमि में उपस्थित सूक्ष्मजीव जलकर नष्ट हो जाते हैं। इससे जैविक खाद का निर्माण बंद हो जाता है। भूमि की ऊपरी परत में ही पौधों के लिये आवश्यक पोषक तत्व होते हैं जो आग से नष्ट हो जाते हैं। भूमि कठोर होने के साथ उसकी जल धारण क्षमता कम हो जाती है। खेत की सीमा पर लगे पेड़ पौधे (वृक्ष) नष्ट होने के साथ पर्यावरण प्रदूषित होता है तथा तापमान में बृद्धि से धरती गर्म हो जाती है। जलने से उत्पन्न कॉर्बन से वायुमंडल में नाईट्रोजन तथा फास्फोरस का अनुपात कम हो जाता है। केंचुए नष्ट हो जाते हैं, जिस कारण भूमि की उर्वरक क्षमता खत्म हो जाती है।
 
(40 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2020दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer