समाचार
|| कलेक्टर ने राजस्थान में सड़क दुर्घटना में राजगढ़ के नागरिकों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया || दुर्घटना उपरांत मदद करने पर रामलखन को किया सम्मानित "खुशियों की दास्तां" || चार छात्रों को पुरूस्कार स्वरूप मिली 5 एवं 10 हजार रूपये की राशि || निवेश के लिए मध्‍यप्रदेश से बेहतर कोई नहीं - मुख्‍यमंत्री श्री चौहान || देवास जिले में अधिक से अधिक नागरिक बनायें आयुष्‍मान कार्ड, योजना अंतर्गत प्रति वर्ष 5 लाख रूपये तक का इलाज मुफ्त मिलेगा || अधिकारी कर्मचारियों को अच्छे कार्य के लिए दिए प्रमाणपत्र || देवास जिले में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निखिल सरकार के घर किया भोजन || सर्वोतम खेती के लिए कृषक को मिला जिला स्तरीय सम्मान || राजस्व एवं विकास विभाग के अधिकारी कर्मचारी सम्मानित || जिला अस्पताल में 30 सफल मोतियाबिंद ऑपरेशन किए गए
अन्य ख़बरें
बौद्धिक दिव्यांग बालक की जीवनचर्या हुई आसान "खुशियों की दास्तां"
-
छिन्दवाड़ा | 11-नवम्बर-2020
      छिंदवाडा नगर के छोटा तालाब के 10 वर्षीय बौद्धिक दिव्यांग बालक नवनीत की जीवनचर्या जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र के सहयोग से अब आसान हो गई है। अब वह स्वयं शौच क्रिया पूर्ण करता है, कपडे पहनता है एवं अपने हाथों से खाना खाता है। अपनी आवश्यकता, इच्छा एवं समस्या भी कह पाता है। बौद्धिक रूप से दिव्यांग इस बालक की जीवनचर्या में सुधार के लिये नवनीत के परिजन जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र के पूरे स्टाफ और जिला प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त करते हैं। नवनीत भी अब खुश रहता है और उसे प्रशिक्षण प्राप्त करने में मजा भी आने लगा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वह रोज अपनी मम्मी को दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र चलने के लिये कहता है और यदि नहीं आ पाता है तो केंद्र चलने की जिद करता है।
       जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र के प्रशासनिक अधिकारी श्री पंचलाल चंद्रवंशी ने बताया कि बौद्धिक दिव्यांग नवनीत पिता श्री विष्णु सूर्यवंशी स्वभाव से हंसमुख, मिलनसार और बहुत ही प्यारा बालक है। मध्यमवर्गीय संयुक्त परिवार में रहने वाला नवनीत परिवार में भी सभी का प्रिय है। पहले नवनीत अपने दैनिक क्रियाकलापों को करने के लिये दूसरों पर निर्भर रहता था। शौच क्रिया, नहाना, कपड़े पहनना आदि कार्यों को करने में कठिनाई महसूस करता था और अपनी समस्या भी नहीं बता पाता था। पुनर्वास केन्द्र में आने पर केंद्र में पदस्थ क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट डॉ.नम्रता सूर्यवंशी द्वारा माता-पिता से केस हिस्ट्री ली गई एवं नवनीत का आई.क्यू. परीक्षण किया गया । इसके बाद मेडिकल बोर्ड द्वारा प्रमाण पत्र जारी करवाया गया। केन्द्र में नवनीत को विशेष शिक्षक श्रीमती वरलक्ष्मी नायडू द्वारा विशेष शिक्षा के अंतर्गत दैनिक क्रियाकलाप का प्रशिक्षण दिया गया । इसके अंतर्गत उसे शर्ट पहनना, शर्ट में बटन लगाना, चप्पल पहनना आदि का प्रशिक्षण दिया गया । इसके साथ ही रंगों, सब्जियों, फलों व अक्षरों की पहचान कराई गई जिसके फलस्वरूप अब वह स्वयं शौच क्रिया पूर्ण करता है, कपडे पहनता है एवं अपने हाथों से खाना खाता है। अपनी आवश्यकता, इच्छा एवं समस्या भी कह पाता है। जिला प्रशासन के सहयोग से नवनीत को 1200 रूपये प्रतिमाह पेंशन और सहायता अनुदान योजना का लाभ भी दिलाया गया है। साथ ही यूडीआईडी कार्ड बनवाने की कार्यवाही की गई है और रेल्वे पास की सुविधा से लाभान्वित किया गया है।
   उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन और मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री गजेन्द्र सिंह नागेश के मार्गनिर्देशन में सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा छिन्दवाड़ा नगर के मोहबे मार्केट स्थित प्रताप शाला भवन में जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र संचालित किया जा रहा है।  जिले में निवासरत मानसिक दिव्यांग एवं चिंता, भय व निराशा की समस्या से ग्रसित मानसिक रोगी जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र में आकर अपना निःशुल्क उपचार करवा सकते हैं।
 
(77 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer