समाचार
|| प्रिसिज़न इंजीनियरिंग में पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर प्रवेश || प्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने उत्कृष्ट कार्य करने पर राजस्व विभाग के 43 अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर किया सम्मानित || जिलास्तरीय एक्सपोर्ट प्रमोशन कमेटी की बैठक गुरुवार को || क्लीन विलेज-ग्रीन विलेज अभियान के तहत विभिन्न गतिविधियां आयोजित || गलवान घाटी में शहीद हुये दीपक सिंह को वीर चक्र से किया गया सम्मानित || दीनदयाल अन्त्योदय रसोई का हुआ शुभारंभ - दस रूपये में मिलेगा भरपेट भोजन || वेतन देयक 29 जनवरी तक करें जनरेट || जिला आबकारी अधिकारी कार्यालय में हुआ ध्वजारोहण || सम्मान अभियान के तहत जिले में किया गया 1780 वृद्ध महिलाओं का सम्मान || रीवा की नीलम बनीं आयुष्मान योजना की दो करोड़वीं हितग्राही "सफलता की कहानी"
अन्य ख़बरें
जब तक पटवारी का वेतन नहीं मिले तब तक मेरा भी वेतन न निकाला जाए – कलेक्टर
वेतन आहरण न होने की गुहार लगाने पर कलेक्टर ने रेडक्रॉस से दी एक लाख रूपए की सहायता
ग्वालियर | 19-नवम्बर-2020
      अपने नियुक्ति दिनांक से 7 वर्ष तक वेतन मिलने की लिखित शिकायत पटवारी कौशलेन्द्र सिंह राणा ने जब कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह से की तो उन्होंने पटवारी को तत्काल रेडक्रॉस के माध्यम से एक लाख रूपए की राशि प्रदान कराई। इसके साथ ही पटवारी को इतनी अवधि तक वेतन न मिलने में जिन-जिन अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही है उनके विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्रवाई करने के निर्देश भी जारी किए। इस संबंध में सम्पूर्ण जाँच करने की जवाबदारी एसएलआर श्रीमती शिवानी पाण्डेय को सौंपी गई है।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह को पटवारी हलका क्रमांक-157 दंगियापुरा के पटवारी श्री कौशलेन्द्र सिंह राणा द्वारा पिछले सात सालों से वेतन न मिलने का आवेदन देकर वेतन दिलाने की गुहार की गई। इस संबंध में जब जानकारी प्राप्त की गई तो ज्ञात हुआ कि कौशलेन्द्र सिंह राणा पटवारी की नियुक्ति सन् 2013 में भितरवार में हुई थी। उसके पश्चात उसका स्थानांतरण चीनौर में हो गया। उक्त स्थान पर हलका क्रमांक-16 पर पदस्थ रहे। तत्पश्चात उनका स्थानांतरण हस्तिनापुर के हलका क्रमांक-113 पर हुआ। जहाँ पर पिछले चार वर्षों से पदस्थ हैं। पटवारी का प्रान नम्बर न बनने के कारण वेतन आहरण नहीं हो पा रहा है।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने पटवारी की पूरी बात सुनने के पश्चात तत्काल एक लाख रूपए की राशि रेडक्रॉस के माध्यम से प्रदान कराई। उक्त राशि वेतन आहरण होने के पश्चात जमा करने की शर्त पर प्रदान की गई है। इसके साथ ही कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए हैं कि जब तक पटवारी का वेतन आहरण न हो जाए तब तक कलेक्टर का वेतन भी आहरित नहीं किया जाए। कलेक्टर ने सम्पूर्ण मामले की विस्तृत जाँच करने की जवाबदारी एसएलआर श्रीमती शिवानी पाण्डे को सौंपी है। जाँच अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि भितरवार, चीनौर एवं हस्तिनापुर तहसील में वे जवाबदार अधिकारी जिनके कारण वेतन आहरण नहीं किया गया, उनके खिलाफ कठोर दण्डात्मक कार्रवाई की जाए।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह द्वारा पटवारी श्री कौशलेन्द्र सिंह राणा को जब एक लाख रूपए की राशि प्रदान की गई तो उन्होंने कलेक्टर के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वेतन के संबंध में तत्परता से निराकरण करने का अनुरोध भी किया। कलेक्टर द्वारा पटवारी को आश्वस्त किया गया कि उनका वेतन शीघ्र ही उन्हें दिलाया जायेगा। साथ ही लापरवाही बरतने वालों को भी बख्शा नहीं जायेगा।
 
(69 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer