समाचार
|| अनूठे अन्दाज़ में मकर संक्रांति पर्व मनाया गया इंदौर विमानतल में || उप संचालक कृषि श्री राजपूत द्वारा पदभार ग्रहण || स्वच्छता अभियान के तहत आओ बनाए प्लास्टिक मुक्त इंदौर कार्यक्रम आज || संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने ली स्वच्छ सर्वेक्षण की समीक्षा बैठक || अपनी रचनात्मकता से दे, नारी को समाज में विशेष सम्मान || कोविड-19 टीकाकरण का चरणबद्ध कार्यक्रम || कक्षा-6वीं से 8वीं के विद्यार्थियों को प्रत्येक बुधवार आईआईटी के विशेषज्ञों का मार्गदर्शन मिलेगा || मुख्यमंत्री श्री चौहान 19 जनवरी को संबल योजना में राशि वितरित करेंगे || जबलपुर जिले में कोरोना वेक्सीनेशन का पहला चरण आज || पंचायत एवं नगर पालिका की मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्यक्रम जारी
अन्य ख़बरें
लोक निर्माण विभाग के नवीन एसओआर से कार्यों की गुणवत्ता होगी नियंत्रित -लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
लोक निर्माण विभाग का नवीन एसओआर विमोचित
उज्जैन | 03-दिसम्बर-2020
     लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि लोक निर्माण विभाग में नवीन एसओआर (दर अनुसूची) लागू हो जाने के बाद निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और समय की बचत होगी। उन्होंने कहा कि इस एसओआर में आधुनिक नवीन तकनीकी आयटमों को समाहित किये जाने से शासकीय निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में सुधार होगा। उन्होंने यह बात लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़क/पुल तथा भवन कार्यों के लिये बनाये गये नवीन एसओआर के विमोचन अवसर पर कही।
   मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि निर्माण गतिविधियों में आईं अनेक आधुनिक तकनीकों के बाद उनका समावेश आसानी से शासकीय निर्माण कार्यों में हो सके, इसके लिये एसओआर दरों में संशोधन की माँग लम्बे समय से की जा रही थी। इससे पूर्व अगस्त-2014 में एसओआर का निर्धारण किया गया था। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भविष्य में लोक निर्माण सहित अन्य विभागों के निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण और समय की माँग अनुसार किये जा सकेंगे।
   प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग श्री नीरज मण्डलोई ने बताया कि वर्ष 2014 के बाद विभाग द्वारा एसओआर में परिवर्तन किये गये हैं, जिन्हें आधुनिक तकनीक और समय की माँग के अनुसार बनाया गया है। उन्होंने कहा कि सिविल एवं इलेक्ट्रिकल कार्यों के समस्त आयटम्स में केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग स्पेशिफिकेशन्स, नेशनल बिल्डिंग कोड, ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिसियंसी तथा इण्डियन स्टेण्डर्ड (IS) का पालन किया गया है। इसके अतिरिक्त ऐसे आयटम्स, जिनके संबंध में मानक मापदण्ड उपलब्ध नहीं हैं, इण्डस्ट्री बेस्ट प्रेक्टिसेस के आधार पर मापदण्ड निर्धारित किये गये हैं।
   सिविल कार्यों के एसओआर में मुख्यत: एन्टीबेक्टीरियल फ्लोरिंग, एन्‍टीमाइक्रोबियल फॉल्स सीलिंग, प्रिकास्ट बाउण्ड्री-वॉल, वॉटर प्रूफिंग के लिये क्रिस्टीलाइन एडमिक्सर, एचडीपीई मेम्ब्रेन, पॉलीयूरिथेन कोटिंग, मॉड्यूलर एक्सपोज्ड ब्रिक वर्क, जीआई शीट्स से निर्मित छतों के थर्मल इंसुलेशन इत्यादि आयटम्स का समावेश किया गया है। इसके अतिरिक्त निर्माण के दौरान कार्यरत श्रमिकों की सुरक्षा के लिये इस्केफोल्डिंग नेट का आयटम भी सम्मिलित किया गया है। ग्रीन बिल्डिंग तथा सीवेज ट्रीटमेंट के आयटम भी सम्मिलित हैं। इसी प्रकार इलेक्ट्रिकल वर्क में फायर रिटार्डेट लो स्मोक वायर एवं कंडयूट, सेनेट्री नेपकिन इंसीनिरेटर, कॉपेक्ट ट्रांसफार्मर सब स्टेशन, मेडिकल गैस पाइप-लाइन सिस्टम, फसॉड लाइटिंग, एचवीएसी सिस्टम एवं नॉन मेटेलिक ट्यूबर पोल को भी समाहित किया गया है।
   प्रमुख सचिव श्री मण्डलोई ने बताया कि यह एसओआर मध्यप्रदेश शासन के अन्य विभागों, उपक्रमों के उपयोग के लिये लोक निर्माण विभाग की वेबसाइट mppwd.gov.in पर नि:शुल्क उपलब्ध रहेगी।

 
(44 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer