समाचार
|| ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्यशाला का आयोजन आज || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती महाजन का मंत्री श्री सिलावट ने किया अभिनंदन || महिला दिवस पर आयोजित शिविर में 241 महिलाओं का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया || संघर्ष कर आगे बढ़ी महिलाओं का महिला दिवस पर किया गया सम्मान || वैक्सीन लगवाने के लिये आधार कार्ड, आईडी नंबर साथ लायें: इन्हीं दस्तावेजों से ऑनलाइन पंजीयन करायें || प्रत्येक माह की 9 तारीख को जिले की सभी स्वास्थ्य संस्थाओं पर गर्भवती महिलाओं का परीक्षण || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित हुई दौड कार्यक्रम संपन्न || खाद्य कारोबारकर्ता को प्रशिक्षण दिलाने हेतु विेजंब योजना प्रारंभ || पी.सी.पी.एन.डी.टी. एक्ट के सलाहकार समिति के सदस्यों का एक दिवसीय उन्नमुखीकरण कार्यशाला 19 मार्च को
अन्य ख़बरें
जीएमसी और एम्स एक-दूसरे से करेंगे अनुभव साझा : जल्द होगा एमओयू
चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने दी जानकारी
डिंडोरी | 12-फरवरी-2021
      चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने बताया कि एम्स भोपाल और गांधी चिकित्सा महाविद्यालय भोपाल  के बीच चिकित्सा शिक्षा, उपचार और शोध के क्षेत्र में परस्पर सहभागिता का एमओयू होने जा रहा है।  इसमें एम्स संबंधित विभाग अपना ज्ञान और शोध साझा करेंगे। इससे चिकित्सा छात्रों को चिकित्सकीय अध्यापन और शोध के क्षेत्र में नए आयाम विकसित होंगे। अनुभवों को एक दूसरे से साझा करने से चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न पहलुओं को नया स्वरूप दिया जा सकेगा। श्री सारंग ने बताया कि चिकित्सा छात्रों को चिकित्सा के अध्यापन क्षेत्र में नये आयाम विकसित करने के लिये नॉलेज एक्सचेंज किया जाना अति-आवश्यक है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत एम्स भोपाल एवं गाँधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के डॉक्टर्स, नर्सिंग और पैरामेडिकल के शिक्षक चिकित्सा, नर्सिंग और पैरामेडिकल छात्रों की शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से अपने परस्पर अनुभव को साझा करेंगे। एमओयू के लिए चिकित्सा शिक्षा एवं शोध संबंधी कई विषय परस्पर सहभागिता के लिए चिन्हित किये गए है। इनमें गेस्ट लेक्चर्स का आयोजन, विशिष्ट बीमारियों के केस  प्रेजेंटेशन, जटिल बीमारियों के इलाज में तकनीकी चिकित्सकीय सहयोग, मल्टी डिसिप्लिनरी रिसर्च के लिये कोलैबोरेशन, दोनों संस्थानों की चिकित्सा   के क्षेत्र में बेस्ट प्रेक्टिसेस का आदान-प्रदान, पेशेंट सेफ्टी एवं रेशनल एंटीबायोटिक उपयोग के घटक का निर्धारण और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का  चिकित्सा जाँच एवं उपचार में उपयोग आदि शामिल है। मंत्री श्री सारंग में बताया कि चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में नॉलेज एवं रिसर्च एक्सचेंज के द्वारा चिकित्सा, नर्सिंग और पैरामेडिकल छात्रों को चिकित्सकीय अध्यापन और शोध के क्षेत्र में नए आयाम विकसित करना आज की आवश्यकता है। इस एमओयू के अंतर्गत विभिन्न विषयों के परस्पर क्रियान्वयन के लिए एम्स भोपाल एवं गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के चिकित्सकों की उच्च स्तरीय समिति का गठन करने का निर्णय लिया गया है। समिति छात्रों के व्याख्यान की श्रृंखला के विषय और कैलेंडर को निर्धारित करेगी।
लेक्चर, सिम्पोजियम, वर्कशॉप और ग्रुप डिस्कशन की गतिविधियों का भी होगा आयोजन
   चर्चा में प्रदेश में स्थानिक रोग (एंडेमिक बीमारियों) के लिए मल्टी डिसिप्लिनरी शोध को बढ़ावा दिया जाएगा। चिकित्सा और नर्सिंग के पीजी एवं पीएचडी छात्रों के थीसिस के विषय दोनों संस्थाओं के समन्वय में निर्धारित करने और दोनों संस्थाओं से थीसिस के गाइड और को-गाइड निर्धारित करने की सहमति जताई गई। चिकित्सा क्षेत्र में गुड प्रैक्टिसेस, मेडिकल एथिक्स, क्लीनिकल ट्रायल्स, मेडिकल रेग्युलेशन और मेडिकल डिवाइसेस के क्षेत्र में प्रभावी कार्य करने का निर्णय भी लिया गया।  
   आज एम्स, भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में मंत्री श्री सारंग के साथ, एम्स भोपाल की गवर्निंग बॉडी के चेयरमेन डॉ. वाय. के. गुप्ता, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा श्री निशांत वरवड़े, एम्स भोपाल के डायरेक्टर डॉ. सरमन सिंह, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. उल्का श्रीवास्तव, डीन एम्स डॉ. राजेश मलिक, डीन गांधी चिकित्सा महाविद्यालय डॉ. अरुणा कुमार, जीएमसी मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के डॉ. राकेश मालवीय,  डॉ. संजीव गौर, डॉ. लोकेंद्र दवे एवं एम्स भोपाल के चिकित्सा शिक्षक उपस्थित थे।
 
(25 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer