समाचार
|| मास्क न पहनने पर 26 लोगो से 32 सौ रूपये का जुर्माना || मंगलवार 9 जून को होगी अमानक धान की ऑफ लाइन नीलामी || धार्मिक प्रतिष्ठानों एवं पूजा-स्थलों पर बरतनी होगी सावधानियाँ || एक ही फोरम पर उपलब्ध होंगी रोजगार लेने और देने वालों की जानकारी रोजगार सेतु पोर्टल का लोकार्पण 10 जून को || दुग्ध उत्पादकों, किसानों को के.सी.सी. देने का अभियान प्रारंभ || मानसून सीजन में खतरनाक हो सकते हैं बिजली के झटके || प्रदेश में 2 लाख 57 हजार दावेदारों को उनकी काबिज भूमि के वन अधिकार पत्र वितरित || सीएमएचओ ने की श्यामपुर विकासखण्ड की समीक्षा || जिले में स्थापित क्वांरेटाईन सेंटरों में आयुष विभाग द्वारा पिलाया गया आरोग्य कषायम्-20 का काढ़ा || फसलों में कीट व्याधि एवं कृषकों को सलाह हेतु निगरानी दल गठित
आस-पास
मुरैना
...और खबरें
श्योपुर
भिण्ड
...और खबरें
जिला :: मुरैना
मुरैना जिला
1/9/2012 8:44:59 AM

          मुरैना नगर मध्यप्रदेश के उत्तरी अंचल में मध्यरेल मार्ग पर स्थित है ब्रज और बुंदेली भाषा तथा संस्कृति का संगम स्थल, मध्यप्रदेश की तिलहन की सबसे बडी मंडी चंबल संभाग का मुख्यालय है

भोगोलिक पृष्ठ भूमि


          पोरसा
विकास खण्ड से लेकर सबलगढ विकास खण्ड तक विस्तृत मुरैना जिले की पूर्व पश्चिम लम्बाई 140 कि.मी. है एव क्षेत्रुल 4998.78 वर्ग कि.मी. है जिले के दक्षिण पश्चिम पठारी भाग में शघन वन है जबकि पूर्वी भाग अधिकांश मैदानी है यहां नदियों की सहारे बीहड की सकरी पटि्टयां फैली हुई है

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि


          एंतिहासिक
एवं पुरातात्विक दृष्टि से यह जिला बैभवशाली रहा है यहां पर पहाडगढ के विकट 36 गुभाओं एवं शैलाश्रयों की श्रंखला 5000 वर्ष पुरानी सभ्यता को प्रकट करती है चम्बल एवं उसकी सहायक नदियां की घटियों में किये उत्खननों में यहां विभिन्न सभ्यताओं एवं संसकृतियों के अवशेष मिले है यहां नूरावाद, जरार, कोतवल एवं हुराई की गढी आदि बस्तियों से पोषाण एवं युगीन सभ्यता के अवशेष मिले है गुलोली खेरा (गोसपुर ) में वेदिक एवं महाभारत कालीन सभ्यता के अस्तित्व के प्रमाण मिले है कुतवार (कुन्तिलपुर) में प्रापत अवशेष मौर्य, नाग एवं कुषाण ताम्रयुगीन सभ्यता की बैद्यता प्रमाणित करत है मितावली एवं पढावली का विष्णु मंदिर गुप्त युगीन बैभव को प्रदर्शित करता है सिहोनियां ककनमठ 11 वीं शताब्दी का अद्भुत शिव मंदिर है यहां पर जैन एवं राजपूत काल के अवशेष मिलते है खुटियानी बीहड ऐसाह तोमर काल के बैभव को प्रदर्शिता करते है नूरावाद, सरसैनी, पिपरसा आदि मुगलकालीन अवशेष आज भी देखने को मिलते है
District Information
एक नज़र

पाठकों की पसंद
जिले के महत्वपूर्ण फोटो

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer